Breaking News

6/recent/ticker-posts

फतेहपुर शेखावाटी : नगरपालिका चुनाव मे कौन बनेगा फतेहपुर का किंग ?

 

नगर पालिका चुनाव की घोषणा होने के तुरंत बाद ही राजनीतिक गलियारों में हलचल तेज हो गई है सभी तथा अपनी अपनी पार्टी को सत्ता में लाने की भरपूर कोशिश करने में लगे हैं वहीं युवा कार्यकर्ता अभी अब टिकट की जद्दोजहद में लगते हैं हमको बता दे राजस्थान सरकार ने 28 जनवरी को चुनाव की तारीख घोषित की है वही 30 तारीख को मतगणना की तारीख तय की गई है!

सीकर जिले की सबसे बड़ी नगर पालिका फतेहपुर शेखावाटी की बात करें तो यहां पर भी चुनाव की घोषणा होने के तुरंत बाद ही राजनीति की हलचल बढ़ती नजर आ रही है!फतेहपुर शेखावाटी की बात करें तो वर्तमान में यहां पर भारतीय जनता पार्टी सत्ता में है यहां पर चेयरमैन  मधुसूदन भिंडा जी है फतेहपुर की राजनीति में अपना अलग ही स्थान रखते हैं!

आखिर किसका बनेगा चेयरमैन?

जिले की सबसे बड़ी नगर पालिका फतेहपुर मैं इस चुनाव में चेयरमैन बनने के लिए होगा घमासान... 
फतेहपुर शेखावाटी: राज्य सरकार ने राजस्थान की 
बची हुई 90 नगर निकायों के चुनाव के लिए तारिको का ऐलान कर दिया है जिसके तहत 28 जनवरी को चुनाव के लिए मतदान होना है तथा 7 फरवरी को पार्षदों के द्वारा नया चेयरमैन चुना जाना है ऐसे में फतेहपुर नगर पालिका की बात की जाए तो पिछले पालिका चुनाव में 40 वार्डों की नगर पालिका में फिलहाल 55 वार्ड होने के बाद इस बार चुनाव में घमासान होना निश्चित है भाजपा और कांग्रेस दोनों ही पार्टी अपना अपना चेयरमैन बनाने के लिए पुरजोर प्रयास करेंगे पिछले 10 सालों से फतेहपुर नगर पालिका में जहां भारतीय जनता पार्टी का कब्जा है तो वहीं इस बार भाजपा तीसरी बार चेयरमैन बनाकर हैट्रिक लगाने का प्रयास जरूर करेंगे तो वही पिछले 10 सालों से पालिका से दूर कांग्रेसी भी अपना चेयरमैन बनाने के लिए पुरजोर प्रयास करेगी राजनीतिक विशेषज्ञों की माने तो 55 वार्ड होने के बाद इस बार स्थिति कांग्रेस के पक्ष में ज्यादा नजर आ रही है ऐसे में कांग्रेस को लगभग 55 में से 25 वार्डों में जीत हासिल हो सकती है तो वही भारतीय जनता पार्टी की बात की जाए तो भारतीय जनता पार्टी को लगभग 20 वार्डों में जीत हासिल होने की संभावना है ऐसे में इस बार निर्दलीय भी काफी तादाद में चुनाव जीतकर आएंगे क्योंकि काफी वार्ड ऐसे हैं जिसमें वोटों की संख्या एक हजार के करीब है ऐसे में भाजपा कांग्रेस के अलावा अगर एक दो निर्दलीय चुनाव लड़ते हैं तो काफी कम मात्रा में वोट चाहिए होंगे जिसमें निर्दलीय भी बाजी मार सकते हैं!

चुनाव  तारीख की घोषणा होने के बाद ही चुनाव लड़ने के इच्छुक भावी उम्मीदवार इस बार सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव नजर आने लगे हैं तो वही टिकट वितरण में अहम भूमिका निभाने वाले राजनेताओं के घर जमावड़ा भी लगा हुआ है भाजपा की बात कहे तो भारतीय जनता पार्टी में टिकट वितरण में सबसे अहम भूमिका पूर्व चेयरमैन मधुसूदन भिंडा की रहने वाली है तो कांग्रेस की बात की जाए तो वर्तमान विधायक हाकम अली खान के जरिए टिकटों का वितरण होना लगभग तय माना जा रहा है ऐसे में दोनों ही पार्टियों के समर्थक अपने अपने नेताओं से संपर्क साधने में लगे हुए हैं वार्डों के बढ़ाए जाने से इस बार कई दिग्गजों को अपना वार्ड बदलना पड़ रहा है तो कई नए लोगों को भी नया वार्ड मिलने से उनकी भी राजनीतिक संभावना बढ़ती नजर आ रही है 15 जनवरी को पार्षद पद के लिए फॉर्म भरे जाएंगे ऐसे 15 तारीख को साफ हो जाएगा कि आखिर 55 वार्डों में भाजपा तथा कांग्रेस किस को अपना उम्मीदवार बनाती है इसके अलावा अन्य पार्टियों की बात की जाए तो फिलहाल तय्यब मेहराब खान के नेतृत्व में आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार कई वार्डों में चुनाव लड़ सकते हैं लेकिन आम आदमी पार्टी ने अभी अपने पत्ते नहीं खोले हैं चेयरमैन के लिए  ओबीसी सीट आरक्षित होने की वजह से  कई दिग्गजों के चेयरमैन बनने के सपने भी टूटे हैं तो वहीं कई नए लोगों के लिए इस बार चेयरमैन बनने के रास्ते भी खुले हैं भाजपा की बात की जाए तो भारतीय जनता पार्टी में  चेयरमैन बनने के प्रबल दावेदारों में  भाजपा जिला उपाध्यक्ष रामनिवास सैनी भाजपा जिला मंत्री इस्लाम खान का नाम दावेदारों में प्रमुखता से हैं तो वही चेयरमैन बनने की इस लिस्ट में कांग्रेस की बात की जाए तो काफी नाम इस लिस्ट में आते हैं जिसके तहत पूर्व चेयरमैन गफूर अली खान आबिद अली परिहार मुस्ताक नजमी विनोद कटारिया सर कांग्रेस अध्यक्ष इंजीनियर आमीन लहरा भुवनेश भोजक के नामों की प्रमुखता से चर्चा है इसके अलावा बहुमत नहीं होने की स्थिति में दोनों ही पार्टियां निर्दलीय का सहारा लेकर चेयरमैन के इस पद पर निर्दलीय पार्षदों को भी मौका मिल सकता है वक्त ही बताएगा कि फतेहपुर नगर पालिका चुनाव में शय और मात की राजनीति में आखिर कौन बाजी मारता है!

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां